आज शिवम् का कार्तिक है कल आप का भी कार्तिक हो सकता है.......

मेरे ऑफिस के गौरव ने आज दोपहर में बताया की कार्तिक के सडक हादसे में चोट लग गयी है....खबर सुनकर मुझे से रहा नहीं गया.फ़ौरन शिवम् को फोन लगा कर कार्तिक के बारे में खेर खबर ली...शिवम् ने बताया की मोटर साईकिल की चपेट में आ जाने से कार्तिक की सिर में चोट आई है..जिससे सिर से खून भी निकला...सुनकर तेज़ गुस्सा आया...मैंने पूछा क्या तुम टक्कर मरने वालों को जानते हो...शिवम् ने बताया कि मोटर साईकिल पर तीन लोग सवार और तेज़ गति से बाइक चला रहे थे.....सुन कर ओर भी गुस्सा आया....बरहाल कार्तिक को ज्यादा चोट नहीं आई थी...इसलिए तसल्ली थी....लेकिन दुःख कम नहीं हुआ....मैंने सोचा आखिर कब मैनपुरी के लोगों में सिविक्स सेन्स आएगा.मैनपुरी के अधिकतर युवाओं में सिविक्स सेन्स की कमी आम बात हो गयी....हर किसी को इतना तो सेन्स होता ही है की स्कूल की छुट्टी के वक़्त वाहन को धीमे चलाना चाहिए....अगर ऐसा किया गया होता तो शायद कार्तिक को चोट ना आती....उपर से बाइक पर तीन लोग सवार थे....आसानी से समझ सकते है आलम क्या होगा....दुःख तो इस बात का है ये तब हो रहा जब पुलिस हर दिन बे-तरतीब ढंग से वाहन चलाने वालों के चालान कट रही है....यानि कानून भी ऐसे लोगों का कुछ नहीं कर सकता....यहाँ पर सिर्फ सिविक्स सेन्स ही है जो माहोल को बेहतर बना सकता है....लेकिन ऐसा कब होगा....? लेकिन मैं इतना जानता हूँ कि अगर सुधार नहीं हुआ तो आज शिवम् का कार्तिक है कल आप का भी कार्तिक हो सकता है.......

****हृदेश सिंह
Share on Google Plus

About VOICE OF MAINPURI

4 टिप्पणियाँ:

  1. कार्तिक के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना, शुक्र है कोई गंभीर चोट नहीं आई...

    हमारे देश में जो काम सबसे गंभीरता से किया जाना चाहिए, वो भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा हुआ है...किसी को भी आंख मूंद कर ड्राइविंग लाइसेंस दे दिया जाता है...देश में सड़क हादसों की सबसे बड़ी वजह यही है...

    जय हिंद...

    ReplyDelete
  2. Ishwar ka dhnywaad Kartik ko jyada chot nahi aayi..
    wo bas ab jaldi se accha ho jaaye..

    ReplyDelete
  3. एक बेहद उम्दा पोस्ट के लिए बहुत बहुत बधाइयाँ और शुभकामनाएं !
    आपकी चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है यहां भी आएं!

    ReplyDelete
  4. khushdeep ji ne sahi keha ekdam..badi swedansheel lagi post..meri bhi kamna hai ki aapka kartik jaldi accha ho jaye..

    ReplyDelete