फीस नही दे सकी तो चुन लिया मोत का रास्ता

मैनपुरी ! hindustan main मैं हर लड़की की किस्मत सोनिया गाँधी और मायावती की तरह नही होती. इस घटना से तो यही लगता है. द्न्नाहर इलाके मैं २२ नव एक छात्रा ने खुदखुसी कर ली है.खुदखुसी के पीछे माना जा रहा है की छात्रा का पिता गरीबी के चलते अपनी बेटी को पड़ा नही पा रहा था बस इसी बात से दुखी हो कर ११ वीं की होसियार छात्रा ने मुआत का रास्ता चुन लिया.हरिसिंग पुर के रूकमसिंह आज जब अपनी बेटी का पीअम कराने चीलघर पहुंचे तो उनकी आंसू बंद होने का नाम नही ले रहे थे.रोते हुए सत्यम को बतया की जिंदगी भर बेटी की मुआत का ग़म रहेगा.पिता का कहना था की आर्थिक तंगी बेटी की मोअत की असली वजह है.पिता के साथ चिलघरआए ग्रामीणों को भी प्रीती की मोअत का दुःख था.इनका कहना था की प्रीती पुरे गावं मैं सबसे होशियार लड़की थी.प्रीती की मोअत उन तमाम योजनाओं पर सवाल खड़ा करती है जो लड़कियूं के लिए चल रही हैं.पिता का कहना था की उसके पास फीस देने के लिए भी पैसे नही थे.विद्यालय मैं प्रीती पर अभी भी फीस बाकि है.पिता का ये भी कहना था की उसे वाज्हिफा पाने के लिए भी कई चक्कर लगाने पड़े थे.लेकिन उसे वजीफा नही मील सका.प्रीती की मोअत के बाद अब उसके पिता ने फ्हैसला किया है की वो अब अपनी बाकि दो लड़कियुं को नही परयेगा.
Share on Google Plus

About VOICE OF MAINPURI

1 टिप्पणियाँ: